Dark Mode
Wednesday, 06 July 2022
हरियाणा के लोगों को जल्द मिलेगी गर्मी से राहत, अगले 48 घंटों में होगी प्री-मॉनसून बारिश

हरियाणा के लोगों को जल्द मिलेगी गर्मी से राहत, अगले 48 घंटों में होगी प्री-मॉनसून बारिश

दिल्ली एनसीआर समेत हरियाणा के अधिकतर इलाकों में बीते कुछ दिनों से मौसम परिवर्तनशील परंतु शुष्क बना हुआ है. दिन के समय भीषण गर्मी से लोगों का हाल बेहाल है तो वहीं शाम के समय आंधी तूफान के साथ हल्की बारिश भी हुई है. अच्छी खबर यह है कि भीषण गर्मी से परेशान प्रदेश के लोगों को जल्द ही राहत मिलने की उम्मीद है. मौसम विभाग की ओर से आने वाले दिनों के मौसम को लेकर पूर्वानुमान जारी किया गया है.
भारत मौसम विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक इन दिनों भारत के दक्षिणी हिस्सों में मॉनसून प्रभावी रूप से अपनी सक्रियता दर्ज करवा रहा है. वही उत्तर भारत के मैदानी राज्यों में प्री मॉनसून गतिविधियां देखने को मिल रही है. खासतौर पर दिल्ली एनसीआर और हरियाणा में असर देखने को मिल रहा है. मौसम रिपोर्ट की माने तो आज और कल भारत के उत्तर मैदानी राज्यों हरियाणा, पंजाब, दिल्ली एनसीआर और चंडीगढ़ में प्री मॉनसून गतिविधियां देखने को मिलेंगी. इन दिनों में तेज हवाओं और आधी तूफान के साथ हल्की बारिश की भी संभावना है. हरियाणा राज्य की बात करें तो यहां हवाओं की रफ्तार 60 से 70 किलोमीटर प्रति घंटा रहने के साथ ही हल्की बारिश भी दर्ज होगी. बीते दिनों में उत्तर हरियाणा के लगभग सभी जिलों में आज ही तूफान के साथ हल्की बारिश देखने को मिली. अगले 2 दिन बारिश होने से प्रदेश के तापमान में भी गिरावट आने की संभावना है. जिससे लोगों को गर्मी से राहत मिलेगी.मौसम विज्ञान विभाग की ओर से जारी पूर्वानुमान रिपोर्ट के अनुसार, हरियाणा राज्य में 3 जून तक मौसम आमतौर पर खुश्क व गर्म रहने की संभावना है. इस दौरान दिन के तापमान में बढ़ोतरी की संभावना है. इस दौरान बीच-बीच में धूल भरी हवाएं चलने की भी संभावना है. जानकारी के लिए बता दें कि हरियाणा राज्य में पश्चिमीविक्षोभ के आंशिक प्रभाव से हवाओं में बदलाव पश्चिमी से पूर्वी नमी वाली हवायों के कारण तथा पंजाब के ऊपर एक साईक्लोनिक सर्कुलेशन बनने से पिछले एक सप्ताह के दौरान बीच-बीच में मौसम में बदलाव देखने को मिले तथा राज्य के कुछ एक स्थानों पर हल्की बारिश तथा कहीं कहीं धूल भरी हवाएं चली जिससे तापमान सामान्य से कम रहे. इस दौरान हीट वेव अर्थात लू भी नहीं चली.

You May Also Like