"यूपीए क्या है? कोई यूपीए नहीं है": ममता बनर्जी की चेतावनी शॉट

"यूपीए क्या है? कोई यूपीए नहीं है": ममता बनर्जी की चेतावनी शॉट

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी - जिन्हें कांग्रेस के राजनीतिक स्थान को लक्षित करने के रूप में देखा जाता है - ने आज स्पष्ट कर दिया कि वह दो साल दूर आम चुनावों के लिए एक नए विपक्षी लाइन-अप की कल्पना कर रही हैं। आज दोपहर मुंबई में राष्ट्रवादी कांग्रेस प्रमुख शरद पवार से मुलाकात के बाद उन्होंने घोषणा की, "यूपीए क्या है? कोई यूपीए नहीं है।"
श्री पवार, जो 2019 की प्रतियोगिता से पहले विपक्ष के एक प्रमुख वार्ताकार थे, ने इसे "2024 के लिए खाका" कहा।
उन्होंने मुलाकात की तस्वीरें भी ट्वीट कीं। "मेरे मुंबई आवास पर पश्चिम बंगाल की माननीय मुख्यमंत्री श्रीमती @MamataOfficial से मिलकर प्रसन्नता हुई। हमने विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। हम लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा करने और अपने लोगों की बेहतरी सुनिश्चित करने के लिए सामूहिक प्रयासों और प्रतिबद्धता को मजबूत करने की आवश्यकता पर सहमत हुए।" ट्वीट पढ़ा। कल शाम, सुश्री बनर्जी ने शिवसेना के आदित्य ठाकरे और संजय राउत से मुलाकात की। उद्धव ठाकरे के साथ उनकी मुलाकात नहीं हुई क्योंकि मुख्यमंत्री की सर्जरी हुई है और उन्हें अलग-थलग करने की सलाह दी गई है।