हरियाणा में लड़कियों को तड़पा तड़पा कर मारने वाला सीरियल किलर पकड़ा गया 4 लड़कियों को मारा, दोस्त की बेटी को भी नहीं छोड़ा

हरियाणा में लड़कियों को तड़पा तड़पा कर मारने वाला सीरियल किलर पकड़ा गया 4 लड़कियों को मारा, दोस्त की बेटी को भी नहीं छोड़ा

हरियाणा में लड़कियों को तड़पा तड़पा कर मारने वाला सीरियल किलर पकड़ा गया है। वह अब तक 4 लड़कियों सहित 6 हत्याएं कर चुका है। बता दें यह सीरियल किलर तब पकड़ा गया जब 31 दिसंबर 2021 को फरीदाबाद में 22 साल की एक छात्रा की हत्या हुई। सीरियल किलर और कोई नहीं एक गार्ड है। गार्ड के पकडे जाने के बाद छात्रा की हत्या के सनसनीखेज खुलासे के बाद जैसे ही परतें खुलनी शुरू हुई तो पुलिस के होश उड़ गए। आरोपी गार्ड सिंहराज जिसे पुलिस आम हत्यारा मान रही थी वह एक सनकी सीरियल किलर निकलेगा, इसका अंदेशा पुलिस को नहीं था। पुलिस की पूछताछ में पता चला है कि इस दरिंदे ने चारों लड़कियों के साथ गंदी हरकत की थी। सिंहराज 1987 में चाचा और चचेरे भाई की हत्या में गिरफ्तार भी हो चुका है। फरीदाबाद में हुई बीए की छात्रा के मर्डर के बाद खुली उसकी क्राइम कुंडली ने पुलिस को भी चौंका दिया। दिसंबर 2019 में उसने 14 साल की एक लड़की की हत्या की। एक साल बीतते-बीतते अगस्त 2020 में उसने 12 साल की बच्ची को मौत के घाट उतार दिया। बीते साल मई के महीने में उसने 15 साल की लड़की का मर्डर कर दिया और 31 दिसंबर 2021 को उसने बीए की छात्रा की गला दबाकर हत्या कर दी थी। बता दें पुलिस ने छात्रा के पिता के दोस्त गार्ड सिंहराज को वजीरपुर मास्टर रोड से गिरफ्तार किया था। पता चला कि कुछ वक्त पहले आरोपित ने युवती के साथ छेड़छाड़ की थी। इसका राज खुलने के डर से उसने छात्रा की हत्या कर दी। वारदात के बाद उसने खुद ही छात्रा के परिवार को कॉल कर इस बारे में बताया था। बीते 31 दिसंबर को छात्रा घर से नानी के यहां जाने के लिए निकली थी और उसकी हत्या कर दी गई थी। एसीपी क्राइम सुरेंद्र श्योराण ने मामले में जांच के लिए क्राइम ब्रांच डीएलएफ को जिम्मेदारी सौंपी थी। क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने शनिवार को कोर्ट में पेश करके आरोपी को तीन दिन के रिमांड पर लिया था। जसाना निवासी 54 वर्षीय सिंहराज एक अस्पताल में गार्ड की नौकरी करता था। पलवल की रहने वाली युवती फिलहाल भूपानी में अपने नाना-नानी के पास रह रही थी। आरोपित और युवती के नाना-नानी 10 साल से एक-दूसरे को जानते हैं। परिचित होने के कारण छात्रा सिंहराज पर भरोसा करती थी, लेकिन उसने उसकी जान ले ली। बीए की छात्रा की अपहरण के बाद हत्या किए जाने के मामले में पुलिस ने आरोपित सिक्योरिटी गार्ड सिंहराज को गिरफ्तार कर उसके कोर्ट से 3 दिन के रिमांड पर लिया था। पूछताछ के दौरान क्राइम ब्रांच डीएलएफ उसे दोबारा से घटनास्थल पर ले गई। उससे हत्या के दिन के सीन को रीक्रिएट कराया गया, ताकि उसके द्वारा दिए गए बयानों की सच्चाई का पता लग सके। आरोपित गार्ड से उसके कपड़े और मोबाइल बरामद कर लिया गया था। मृतक छात्रा के दलित होने के कारण मामले की जांच एसीपी क्राइम खुद कर रहे हैं। आरोपित के अभी तक दिए बयान में यह सामने आया है कि मृतका उसे किसी बात को छिपाने के लिए बार-बार पैसों की मांग करती थी। आरोपी के मुताबिक उसने मृतका के साथ कोई ऐसी हरकत की थी, जिसके लिए वह उसे बार-बार ब्लैकमेल कर रही थी। आरोपित की बातों में कितनी सच्चाई है यह जानने के लिए पुलिस उसकी करीब एक साल की कॉल डिटेल निकाल रही है। उसके कार्यस्थल पर भी उसके बारे में पूछताछ की जा रही है, ताकि उसके चरित्र के बारे में जानकारी जुटाई जा सके। आरोपित सिंहराज हॉस्पिटल में लाकर देता था वारदात को अंजाम * सिंहराज जिस हॉस्पिटल में काम करता था वो कई सालों से बंद है * आरोपित सेक्टर-16 स्थित सिटी हॉस्पिटल में करता था काम * साल 2019 में चाय की रेहड़ी लगाने वाली 14 साल की किशोरी को बहला फुसला कर अपने साथ ले गया। छेड़छाड़ का विरोध करने पर हॉस्पिटल में उसकी हत्या कर दी * साल 2020 में 12 साल की बच्ची के साथ फिर वही हरकत दोहराई * साल 2021 मई में अस्पताल में साफ-सफाई करने वाली 15 साल की किशोरी के साथ भी आरोपित ने हैवानियत की * इन तीनों मामलों में उसने किशोरियों की हत्या करके बोरे में भरकर आगरा नहर में फेंक दिया * 31 दिसंबर को भी आरोपित ने 22 वर्षीय युवती को नहर किनारे बुलाया, वहां उसके साथ छेड़छाड़ किया और जब उसने विरोध किया तो उसकी हत्या कर दी * आरोपित ने उसके भी शव को नहर में ढकेला, उसे लगा शव नहर में बह गया, मगर झाड़ियों में शव फंस जाने से शव बरामद हो गया * आरोपित ने इन सभी घटनाओं में कपड़े के सहारे हत्याओं को अंजाम दिया