दोस्त को दुश्मन बनाकर लिया रंजिश का बदला, चमारखेड़ा का मनदीप है मर्डर का असली मास्टरमाइंड : शराब कारोबारी हत्याकांड

दोस्त को दुश्मन बनाकर लिया रंजिश का बदला, चमारखेड़ा का मनदीप है मर्डर का असली मास्टरमाइंड : शराब कारोबारी हत्याकांड

हरियाणा के हिसार जिले के थाना उकलाना की पुलिस टीम को फरीदपुर निवासी रामफल उर्फ ​​युवती की हत्या का पूरी तरह से पर्दाफाश हो गया है. साजिश चमरखेड़ा निवासी मनदीप उर्फ ​​ढोला ने रची थी। अपनी पुरानी दुश्मनी का बदला लेने के लिए मंदीप रामफल के दोस्त और साथी अमित उर्फ ​​मीता और अंकित के साथ जुड़ गया और वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने गिरफ्तार तीनों आरोपितों के पास से बोलेनो कार बरामद की है, जिसमें तीनों आरोपित हत्या कर फरार हो गए।

कई दिनों से थी हत्या की तैयारी

उकलाना थाना प्रभारी एसआई विनोद कुमार ने बताया कि मनदीप उर्फ ​​ढोला की रामफल से पुरानी रंजिश थी. मंदीप ने रामफल को मारने की पूरी योजना बनाई थी। रामफल कई दिनों से मनदीप के काबू में नहीं आ रहा था। इसके लिए मंदीप ने रामफल के पुराने दोस्त अमित को इसके लिए तैयार किया। रामफल ने अमित पर विश्वास किया और इसलिए 30 दिसंबर को जब उन्होंने उन्हें फोन किया तो वह अमित के साथ हो गए।

मंदीप ने अमित को आश्वासन दिया था कि रामफल की मौत के बाद वह पूरे शराब कारोबार को अपने हाथ में ले लेगा। अमित का रामफल से झगड़ा हुआ था, लेकिन वह हत्या से सहमत नहीं था। बाद में मनदीप के बहकावे में आने पर वह राजी हो गया। रामफल को खेतों में बुलाने के बाद अंकित ने मनदीप के कहने पर रामफल के सिर में गोली मार दी। हत्या के बाद मनदीप और अंकित ने रामफल के शव को अपनी कार की डिक्की में डाल दिया और अपने ठेके के बाहर कार खड़ी कर फरार हो गए.

उल्लेखनीय है कि 30 दिसंबर को उकलाना में शराब ठेकेदार रामफल कुंडू उर्फ ​​युवती की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. रामफल का शव उनकी ही कार की डिक्की में मिला था। शव कपड़े से ढका हुआ था। सिर में गोली लगने से रामफल की मौत हो गई। मौके पर पहुंची क्राइम सीन टीम ने साक्ष्य जुटाए। वाहन की तलाशी लेने पर एक रिवाल्वर व कारतूस बरामद हुआ।