CET EXAM - गुरुग्राम, फरीदाबाद सहित हरियाणा में 50 हजार सरकारी भर्तियां, सीईटी क्वालीफाई करने वालों को ही मिलेगा मौका।

CET EXAM - गुरुग्राम, फरीदाबाद सहित हरियाणा में 50 हजार सरकारी भर्तियां, सीईटी क्वालीफाई करने वालों को ही मिलेगा मौका।

हरियाणा में जल्द ही करीब 50 हजार सरकारी नौकरियों की भर्ती प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। इस भर्ती प्रक्रिया में वही उम्मीदवार भाग ले सकेंगे, जिन्होंने कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (संयुक्त पात्रता परीक्षा) यानी सीईटी पास किया हो. इसका फायदा यह होगा कि लाखों युवा इन पदों के लिए कतार में खड़े नहीं दिखेंगे। करीब साढ़े पांच हजार कांस्टेबलों की भर्ती के लिए साढ़े तीन लाख से अधिक युवाओं के आवेदन आने के बाद हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने आवेदकों की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पहले चरण में ही सीईटी क्वालिफाई करना अनिवार्य कर दिया है।

अब हरियाणा में सभी सरकारी भर्तियों में सामाजिक-आर्थिक मानदंड के नए निर्धारित अंकों का लाभ दिया जाएगा। पुराने नियम पहले से चल रही भर्तियों में लागू होंगे, जिनमें दस्तावेज सत्यापन का कार्य चल रहा है या पूर्ण हो चुका है। नए नियमों के अनुसार सामाजिक-आर्थिक मानदण्डों की संख्या अब 10 के स्थान पर पांच ही मिलेगी। पहले विवाहित महिला अभ्यर्थियों को सामाजिक-आर्थिक मानदण्डों का लाभ देने के लिए केवल उनके पैतृक पक्ष को देखा जाता था, अब उनके ससुराल पक्ष को भी देखा जा सकता है।
विवाहित लड़की का परिवार उसका ससुराल होगा और अविवाहित लड़की का परिवार उसका मामा होगा। जिनके घर में सरकारी नौकरी नहीं है, 5 और जिनके पिता या पति की मृत्यु हो गई है, उन्हें भी 5 अतिरिक्त अंक मिले हैं। अब अनुभव अंक 8 से घटाकर 4 कर दिए गए हैं। नए नियमों के तहत उम्मीदवार केवल एक श्रेणी में अतिरिक्त अंकों का लाभ उठा सकता है।

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने भी 95 अंकों की लिखित परीक्षा कराई है। पहले लिखित परीक्षा 90 अंकों की होती थी। ऐसी सभी भर्तियां जो विज्ञापित थीं, लेकिन जिनकी परीक्षाएं नहीं हुई थीं, सभी रद्द कर दी गई हैं। इनमें 9343 रिक्तियां शामिल हैं। इनकी परीक्षा फरवरी तक होनी थी। अब नए सिरे से इन भर्तियों में वे लोग शामिल होंगे जिन्होंने सीईटी पास किया है। हालांकि, जिस उम्र में उन्होंने पहले आवेदन किया था, उसी उम्र को नया फॉर्म भरने के समय माना जाएगा। कर्मचारी चयन आयोग के अध्यक्ष भोपाल सिंह खदरी के अनुसार, अब तक 117 श्रेणियों की परीक्षा ली जा चुकी है, जिनमें से 86 का दस्तावेजीकरण किया जा चुका है।